बाजार पर रखें भरोसा, हर गिरावट में लगाएं पैसा

फार्मा पर लगाएं दांव, 1 साल में डबल होगी कमाई

बाजार की आगे की चाल और दिशा पर बात करते हुए निर्मल बंग इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के सीईओ राहुल अरोरा ने कहा कि बाजार को नतीजों से सपोर्ट नहीं मिल रहा है। चौथी तिमाही के नतीजे कोई खास नहीं रहे हैं, ऐसे में बाजार सिर्फ सेंटीमेंट और लिक्विडीटी से प्रेरित हैं, ऐसे में अगर गिरावट आई तो काफी तेज होगी।

जुबीलेंट फूड पर बात करते हुए राहुल अरोरा ने कहा कि ये स्टॉक अभी महंगा दिख रहा है। जुबीलेंट फूड का शेयर भाव 600-625 रुपये होना चाहिए। राहुल अरोरा ने कहा कि अगर किसी के पास ये शेयर है तो उसको बेचकर निकल जाना चाहिए।

राहुल अरोरा का कहना है कि इस समय फार्मा शेयरों में पैसे लगाने का बहुत अच्छा मौका है, हो सकता है कि आगे आपको इससे अच्छा मौका न मिले, अगले एक साल में सारे लार्जकैप फार्मा डबल हो जाएंगे। अरबिंदो, सिप्ला और डॉ रेड्डीज राहुल अरोरा के पसंदीदा लार्जकैप फार्मा पिक्स हैं।

राहुल अरोरा के मुताबित आईटी सेक्टर में 3-4 साल तक 10 फीसदी ग्रोथ के आसार कम दिख रहे हैं। आगे बैंकिंग शेयरों में तो बढ़त होगी ही लेकिन फार्मा शेयर बैंकिग सेक्टर से भी बेहतर रिर्टन देंगे। फार्मा सेक्टर के लिए ग्रोथ की संभावनाएं ज्यादा हैं।

बाजार पर रखें भरोसा, हर गिरावट में लगाएं पैसा

बाजार रिकॉर्ड स्तर पर है और ऐसे में निवेशकों के मन में कई सवाल उठते हैं और इसलिए सीएनबीसी-आवाज़ ने शुरू की है खास सीरीज लाइफ एट लाइफ टाइम हाई जिसमें जाने-माने दिग्गज निवेशक आपको बताएंगे कि अब बाजार में क्या करना चाहिए। इसी कड़ी में सीएनबीसी-आवाज़ के मार्केट एडिटर अनिल सिंघवी ने बात की जाने-माने वेल्थ क्रिएटर मोतीलाल ओसवाल के ज्वाइंट एमडी रामदेव अग्रवाल से।

इस बातचीत में रामदेव अग्रवाल ने कहा कि अमेरिका के बाद निवेश के लिए भारत में सबसे ज्यादा मौके हैं। थोड़ी गिरावट आते ही इंतजार कर रहे एफआईआई बाजार में उतरेंगे। फिलहाल बाजार के वैल्युएशन थोड़े महंगे जरूर हैं। दूनिया के दूसरे इमर्जिंग मार्केट्स की हालत खराब है ऐसे में भारत आकर्षक बना हुआ है। मोदी सरकार के रिफॉर्म्स से ग्लोबल बाजारों में भारत की तस्वीर बदली है। बाजार में गिरावट ज्यादा वक्त के लिए नहीं होगी। बाजार में करेक्शन आने पर एफआईआई का निवेश बढ़ेगा।

रामदेव अग्रवाल का कहना है कि मोदी सरकार के कामकाज से बाजार में उम्मीद जगी है। देश को आगे बढ़ाने के लिए पीएम मोदी में एक जुनून है। फिलहाल 7 फीसदी पर ग्रोथ स्थिर, लेकिन आगे बेहतर ग्रोथ की उम्मीद है। आने वाले 10 साल इकोनॉमी के लिए बेहतर रहने वाले हैं। हालांकि बाजार कुछ महंगा जरूर है मगर अब भी उम्मीदें हैं।

रामदेव अग्रवाल ने आगे कहा कि ऊपरी स्तर पर जाने के बाद करेक्शन जरूर आता है। करेक्शन तेज आएगा, लेकिन बहुत कम समय के लिए होगा। अगले 5 साल में बाजार दोगुना होगा। पिछले 1 साल में बाजार में लोगों ने बहुत पैसा कमाया है। कमाई के मामले में छोटी-मझोली कंपनियों ने दिग्गज कंपनियों को पीछे छोड़ा है।

जीएसटी से कितना बदलाव होगा? इस सवाल पर रामदेव अग्रवाल ने कहा कि टैक्स वसूली के लिए जीएसटी अच्छा जरिया है। जीएसटी लागू होने से बड़ी कंपनियों के कामकाज पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा लेकिन छोटी कंपनियों के लिए मुश्किलें बढ़ेंगी। इनडायरेक्ट टैक्स के बढ़ने से डायरेक्ट टैक्स में सुधार होगा। जीएसटी ज्यादा और बेहतर टैक्स वसूली का जरिया साबित होगा।

रामदेव अग्रवाल का कहना है कि इकोनॉमी में मजबूती है, आगे कारोबार के लिए माहौल सुधरेगा। अच्छे ग्लोबल, घरेलू संकेतों से बाजार को मदद मिलेगी। बाजार में भरोसा रखकर निवेश करें और अच्छे प्रदर्शन वाली कंपनियां पोर्टफोलियो में रखें। उन्होंने आगे कहा कि मुनाफावसूली से फायदा नहीं, लंबी अवधि के लिए निवेशित रहें। रामदेव अग्रवाल की राय है कि निवेश के लिए लंबी अवधि का नजरिया रखें आगे निफ्टी 1 लाख तक जा सकता है।

अगर आपको ए मेरा पोस्ट अच्छा लगा तो जरुर शेयर करे और लाइक करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *