कैश ट्रांजैक्शन कल से होगा महंगा

बैंकों की मनमानी, कल से महंगा होगा कैश ट्रांजैक्शन

कल से एचडीएफसी, आईसीआईसीआई और एक्सिस बैंक एक लिमिट के बाद कैश ट्रांजैक्शन पर मोटा चार्ज वसूलेंगे। जानकार बता रहे हैं कि जल्दी ही सरकारी बैंक भी इसी रास्ते पर आ जाएंगे। दरअसल, इस चार्ज के पीछे तर्क ये है कि सरकार ने कैश पर लगाम लगाने और कैशलेस को बढ़ावा देने को कहा है। अब सवाल ये है कि जब नकद पर लगाम लगाने के लिए ग्राहक से वसूलने का मौका दिखाई दिया तो बैंक उतावले हो गए। जबकि यही बैंक कैशलेस के लिए ग्राहक को छूट देने में आनाकानी करते हैं।

बजट 2017-18 में कैश ट्रांजैक्शन में 3 लाख लिमिट का प्रस्ताव रखा गया है। 3 लाख से ज्यादा कैश ट्रांजैक्शन पर बैन लगाते हुए 3 लाख से ऊपर ट्रांजैक्शन पर जुर्माना लगाने की बात कहीं है। वहीं कैश में ज्वेलरी पर टीडीएस लगाने की बात बजट में कहीं गई है। टैक्स कलेक्शन एट सोर्स ज्वेलरी खरीदारी पर लगाये जाएगे। सरकार के अनुसार 2 लाख से ज्यादा की ज्वेलरी पर 1 फीसदी टीडीएस लगाने की योजना है। बजट एलान के पहले टीडीएस 5 लाख रुपये के बाद कटता था।

ye bhi phade-

कैश ट्रांजैक्शन के नए नियमों के मुताबिक एचडीएफसी बैंक में 4 जमा या निकासी के बाद हर ट्रांजैक्शन पर 150 रुपये चार्ज वसूला जाएगा और इस पर सर्विस चार्ज अलग से देना होगा। एचडीएफसी के होम ब्रांच से 2 लाख प्रति महीना से ज्यादा पर चार्ज 5 रुपये प्रति हजार (न्यूनतम 150 रुपये), दूसरी ब्रांच से 25 हजार रुपये से ज्यादा पर चार्ज 5 प्रति हजार (न्यूनतम 150 रुपये), थर्ड पार्टी कैश ट्रांजैक्शन अधिकतम 25 हजार प्रतिदिन। थर्ड पार्टी कैश ट्रांजैक्शन पर 150 रुपये प्रति ट्रांजैक्शन चार्ज लगेगा।

एक्सिस बैंक में आपको 4 जमा या निकासी के बाद हर ट्रांजैक्शन पर 150 रुपये चार्ज देना होगा वहीं 1 लाख रुपये प्रति महीना से ज्यादा पर 5 रुपये प्रति हजार चार्ज (न्यूनतम 150) देना होगा जबकि आईसीआईसी बैंक में आपको 4 जमा या निकासी के बाद हर ट्रांजैक्शन पर 150 रुपये चार्ज के साथ ही सर्विस चार्ज देना होगा।

वहीं पेट्रोल पंपों पर अब क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर बैंक 1 फीसदी एक्स्ट्रा चार्ज वसूल रहे हैं। दरअसल फरवरी के दूसरे हफ्ते में इस मुद्दे पर अहम बैठक हुई थी और पेट्रोल पंप पर कार्ड पेमेंट पर 1 फीसदी एक्स्ट्रा चार्ज पर सहमति बनी थी। ये बैठक पेट्रोलियम मंत्रालय के संबंधित पक्षों की हुई थी। सूत्रों का ये भी कहना है कि डेबिट कार्ड से पेमेंट करने पर कई बैंक एमडीआर चार्ज भी वसूल रहे हैं। पेट्रोलियम मंत्रालय में इस मुद्दे पर कई शिकायतें आई हैं।

हालांकि पेट्रोल पंपों की एक्सट्रा चार्ज वसूलने की अपनी दलीले है। पेट्रोल पंप धारको के अनुसार पेट्रोल-डीजल बेचने में मार्जिन कम होता है। जिसके चलते पेट्रोल पंप धारक फ्यूल सरचार्ज का बोझ नहीं उठा सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *