किस कम्पनी का कितना मुनाफा बढ़ा – मार्किट एक्सपर्ट

डॉ रेड्डीजः मुनाफा 2.8 गुना बढ़ा, आय में गिरावट

वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में डॉ रेड्डीज का मुनाफा 2.8 गुना बढ़कर 337.6 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2016 की चौथी तिमाही में डॉ रेड्डीज का मुनाफा 122.6 करोड़ रुपये रहा था। हालांकि वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में डॉ रेड्डीज की आय 4.8 फीसदी घटकर 3611.9 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2016 की चौथी तिमाही में डॉ रेड्डीज की आय 3795 करोड़ रुपये रही थी।

साल दर साल आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में डॉ रेड्डीज का एबिटडा 480 करोड़ रुपये से बढ़कर 630 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में डॉ रेड्डीज का एबिटडा मार्जिन 12.8 फीसदी से बढ़कर 17.7 फीसदी रहा है।

सालाना आधार पर चौथी तिमाही में डॉ रेड्डीज की ग्लोबल जेनरिक बिक्री 3077.4 करोड़ रुपये से 5 फीसदी घटकर 2913.8 करोड़ रुपये रही है। सालाना आधार पर चौथी तिमाही में डॉ रेड्डीज की नॉर्थ अमेरिका में जेनरिक बिक्री 1895 करोड़ रुपये से 19 फीसदी घटकर 1534.9 करोड़ रुपये रही है।

सालाना आधार पर चौथी तिमाही में डॉ रेड्डीज की लैटिन यूरोप में जेनरिक बिक्री 175.9 करोड़ रुपये से 17 फीसदी बढ़कर 206.6 करोड़ रुपये रही है। सालाना आधार पर चौथी तिमाही में डॉ रेड्डीज की भारत में जेनरिक बिक्री 526.7 करोड़ रुपये से 8 फीसदी बढ़कर 571.1 करोड़ रुपये रही है।

 नेस्ले इंडियाः मुनाफा 6.8% बढ़ा, आय 9.5% बढ़ी

साल 2017 की पहली तिमाही में नेस्ले इंडिया का मुनाफा 6.8 फीसदी बढ़कर 306.7 करोड़ रुपये हो गया है। साल 2016 की पहली तिमाही में नेस्ले इंडिया का मुनाफा 287.3 करोड़ रुपये रहा था।

साल 2017 की पहली तिमाही में नेस्ले इंडिया की आय 9.5 फीसदी बढ़कर 2591.9 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। साल 2016 की पहली तिमाही में नेस्ले इंडिया की आय 2367.5 करोड़ रुपये रही थी।

साल दर साल आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में नेस्ले इंडिया का एबिटडा 547.8 करोड़ रुपये से घटकर 525 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में नेस्ले इंडिया का एबिटडा मार्जिन 24 फीसदी से घटकर 21.1 फीसदी रहा है।

एशियन पेंट्स के मुनाफे में 10.1% की बढ़ोतरी

वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में एशियन पेंट्स का मुनाफा 10.1 फीसदी बढ़कर 479.6 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2016 की चौथी तिमाही में एशियन पेंट्स का मुनाफा 435.5 करोड़ रुपये रहा था।

वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में एशियन पेंट्स की आय 8.9 फीसदी बढ़कर 4416.2 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2016 की चौथी तिमाही में एशियन पेंट्स की आय 4054 करोड़ रुपये रही थी।

साल दर साल आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में एशियन पेंट्स का एबिटडा 697.2 करोड़ रुपये से बढ़कर 711.8 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में एशियन पेंट्स का एबिटडा मार्जिन 17.2 फीसदी से घटकर 16.1 फीसदी रहा है। एशियन पेंट्स के मुताबिक चौथी तिमाही में भारतीय डेकोरेटिव कारोबार में 10 फीसदी से कम की ग्रोथ देखने को मिली है। हालांकि ऑटो ओईएम और सामान्य इंडस्ट्रियल कारोबार में अच्छी मांग देखने को मिल रही है। नेपाल, फिजी, ओमान, बहरीन और जमैका जैसे बाजारों में प्रदर्शन काफी दमदार रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *