किन शेयरों पर करे भरोसा – मार्किट एक्सपर्ट

सुस्ती है बरकरार, किन शेयरों पर करें भरोसा

आज लगातार सातवें दिन बाजार सीमित दायरे में घूमता रहा। सेंसेक्स और निफ्टी सपाट होकर बंद हुए हैं। आज के कारोबार में निफ्टी 8772.5 तक टूटा, तो सेंसेक्स ने 28263.5 तक गोता लगाया। हालांकि तेजी के माहौल में निफ्टी 8820.5 तक पहुंचा था, तो सेंसेक्स ने 28393.4 तक दस्तक दी थी। अंत में निफ्टी 8800 के नीचे फिसलकर बंद हुआ है, जबकि सेंसेक्स सपाट होकर बंद हुआ है।

एल्टामाउंट कैपिटल के मार्केट एक्सपर्ट प्रकाश दीवान का कहना है कि पीएसयू बैंको में विनिवेश शुरु होने की खबर से आईडीबीआई बैंक में कई सालों से तेजी देखने को मिली है। जब से प्रभात डेयरी कंपनी का इश्यू आया था तब से कंपनी के सामने खुद को समर्थ बनाने के काफी चुनौतियां रहीं है। सरकार की तरफ से एफडीआई के खुलासे के बाद इसमें नया ट्रिंगर आने की संभावनाएं हैं। हालांकि कंपनी ने अपने क्वालिटी में कापी सुधार किया हैं। लिहाजा इसमें मौजूदा समय में ध्यान देने की जरुरत है।

एफएमसीजी सेक्टर के नतीजों को देखा जाएं तो नोटबंदी का असर इतना भी खत्म हुआ है। नोटबंदी का असर बिजनेस पर है या नहीं यह कहना मुश्किल है लेकिन नतीजों पर इसका असर नहीं दिखा है। शुगर्स सेक्टर में जिस तरह की तेजीके बाद इसमें आगे की चाल को बताना थोड़ा मुश्किल रहा है। लेकिन इसमें भी चुनिंदा शेयर में बने रहें।
रजत बोस डॉट कॉम के रजत बोस का कहना है कि आईडीबीआई बैंक अगर 89-90 रुपये के स्तर को पार कर उसे बरकरार रखता है तो इसमें तेजी देखने को मिल सकती है। हालांकि इसमें आज के सत्र में इसमें मुमेंट  बना हुआ है। लेकिन एक दिन के मुमेंट को देखते हुए खरीदारी करने की सलाह नहीं होगी। रिलायंस इंफ्रा वॉल्यूम के साथ उपरी स्तर पर कारोबार करता नजर आया है। फरवरी फ्यूचर्स में इसमें 620 रुपये के स्तर आसानी से देखने को मिल सकते हैं।

एमएसई औऱ बीएसई के मेंबर दीपन मेहता का कहना है कि नोटबंदी के बाद भी दिसंबर तिमाही में कंपनियों के नतीजे अच्छे रहे है। सेक्टर के लिहाज से भी यह तिमाही बाजार के लिए काफी फायदेमंद रहा है। अब बाजार की नजर यूपी चुनाव के नतीजों पर है। हालांकि बाजार में तेजी का मूड बरकरार है। लिहाजा गिरावट पर लंबी अवधि का नजरिया रख खरीदारी करने की सलाह होगी।

बैंकिंग सेक्टर, एनबीएफसी सेक्टर, चुनिंदा फार्मा सेक्टर ने अच्छा प्रदर्शन किया है। जिसपर मौजूदा बाजार में भी सकारात्मक नजरिया बना हुआ हैं। जिस प्रकार से म्यूचुअल फंड में पैसे आ रहे है उससे कुछ हद तक बाजार को काफी सपोर्ट मिल रहा है जो आनेवाले समय में बाजार के तेजी को मुड को बरकरार ऱख सकती हैं। नोटबंदी की कारण बाजार में  अनिश्चितता का माहौल जरुर बना हुआ था लेकिन जैसे-जैसे कंपनियों ने अपने नतीजें पेश किये है वैसे वैसे बाजार की अनिश्चितता बी खत्म हुई है।

आइडिया और वोडाफोन के विलय की खबरों के चलते पूरे टेलीकॉम सेक्टर में तेजी देखने को मिली है। लेकिन इस सेक्टर में इन्वेस्टर्स का थोड़ा सावधान होने की सलाह होगी। हालांकि सेक्टर के लिए कंसोलेडेशन का माहौल अच्छी बात है। लेकिन इसके वजह से चुनौतियां कम नहीं होती है। लिहाजा इस बढत में मौजूदा निवेशकों को इस सेक्टर से बिकवाली करने की सलाह होगी।

पावरमायवेल्थ डॉटकॉम के संदीप वागले के मुताबिक आईसीआईसीआई बैंक में ज्यादा तेजी की संभावनाएं नहीं हैं। हालांकि यह बाजार की तेजी के साथ कारोबार कर सकता हैं। लिहाजा इसमें इंट्राडे का नजरिया रख 293 रुपये के लक्ष्य के लिए खरीदारी की जा सकती हैं। हिंडाल्को में 190 रुपये के स्तर को पार करता है तो इसमें तेजी की संभावनाएं होगी। वहीं बीएचईएल में सकारात्मक नजरिया बना हुआ हैं। इसमें 158 रुपये के रजिस्टेंस को पार करने की कोशिश कर रहा हैं। लिहाजा इसमें 158 रुपये के उपरी स्तर पर इंट्राडे का नजरिया रख 168 रुपये के लक्ष्य के लिए खरीदारी की जा सकती हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *